Home बरेली मसाला सॉलिड वेस्ट प्लांट बंद नहीं चालू कराने के लिए लड़ा चुनाव

सॉलिड वेस्ट प्लांट बंद नहीं चालू कराने के लिए लड़ा चुनाव

Visitors have accessed this post 265 times.

बरेली: शहर को बदलने की नींव डलने और उस पर इमारत खड़ी करने के लिए एक साल बहुत होता है। ऐसा वायदा भी किया गया था। फिर भी काम कम और विवाद ज्यादा खड़े हुए। महापौर डॉ. उमेश गौतम पर आरोप लगे कि वह इन्वर्टिस यूनिवर्सिटी के पास रजऊ में सॉलिड वेस्ट मैनेजमेट प्लांट शुरू नहीं होने देने के लिए चुनाव लड़े और अब उसी एजेंडे पर काम कर रहे हैं। ‘जागरण’ ने जब महापौर से इन तमाम सवालों को लेकर बात की तो उन्होंने सफाई दी। कहा कि चुनाव प्लांट बंद कराने नहीं, चालू कराने के लिए लड़ा था और यह साबित करके रहूंगा।

सवाल : सॉलिड वेस्ट मैनेजमेट प्लांट नहीं चलने के लिए चुनाव से लेकर अब तक यही कहा जा रहा है कि आपका मकसद इसे रोकना है, चलाना नहीं?

जवाब : मेरा चुनाव लड़ने का मकसद प्लांट को चालू कराना था। उसे पूरा कर रहा हूं। बाकरगंज में छोटा प्लांट लग गया है। 15 दिन में चालू हो जाएगा। बड़ा प्लांट बहगुलपुर में लगेगा। मुझसे पूर्व के महापौर 14 साल में प्लांट नहीं चलवा सके।

सवाल : अतिक्रमण अभियान चलने के बाद बंद हो गया। इसे लेकर आप पर आरोप लग रहे हैं। अभियान को क्यों रोका गया?

जवाब : अतिक्रमण अभियान को पूरे जोश-ओ-खरोश के साथ चलवाया। यह किन वजह से रुका सबको पता है। मेरे मुंह से मत कहलवाइए। हां, वायदा कर रहा हूं कि इस अभियान को फिर से शुरू कराया जाएगा।

सवाल : पार्षद शोर मचा रहे हैं, न सड़कें बनी और न गढ्डे भरे। एक साल में भ्रष्टाचार पर रोक का वायदा भी पूरा नहीं हो सका?

जवाब : विपक्ष का काम है आरोप लगाना। जहां तक काम का सवाल है तो सड़कें बनी हैं और आने वाले दिनों में शहर से लेकर गांव की एक भी सड़क कच्ची नहीं रहेगी। यह मेरा वायदा है। मेरे रहते निगम में भ्रष्टाचार भी नहीं पनप पाएगा।

सवाल : अवैध यूनिपोल और होर्डिग भी नहीं हटवाए जा सके। पूरा शहर पटा हुआ है?

जवाब : नगर निगम अमले के बजाय अपने लोगों से सर्वे कराकर सारे अवैध यूनिपोल और होर्डिग चिन्हित कर लिए हैं, हटाने की कार्रवाई शुरू करा दी है।

सवाल : शहर के सभी लोगों को टैक्स आधा होने का लाभ नहीं मिला है। यह कब तक संभव है?

जवाब : हमारे आने से पहले टैक्स कम करने के नाम पर जनता को गुमराह किया जाता रहा कि यह शासन स्तर का मामला है, लेकिन हमने पहली ही बैठक में टैक्स कम करके लागू किया। जिससे लगभग 72 वार्ड में 35 से 50 फीसदी टैक्स कम हुआ। सवाल : डोर टू डोर कूड़ा कलेक्शन में एजेंसी को खास वजह से बदलने के आरोप लग रहे हैं?

जवाब : हमने सिर्फ एक नोडल एजेंसी हरी भरी को बदला है। पिछले कार्यकाल में लगी हरी भरी को हटाकर जोन दो और चार में रमन सिक्योरिटीज को काम दिया है। बार बार कोई एजेंसी नहीं बदली है। सवाल : शहर को पेरिस बनाने की बात कही थी लेकिन ऐसा हुआ नहीं। स्थिति खराब होने के आरोप लग रहे हैं?

जवाब : पेरिस बनाने की बात कभी नहीं कही। शहर को पेरिस से कहीं अच्छा बनाने का प्रयास है। अभी मेरे पास चार साल हैं। अपनी इस सोच को जमीन पर उतारकर रहूंगा