Home बरेली मसाला प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के निशाने पर आए भाजपा विधायक

प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के निशाने पर आए भाजपा विधायक

Visitors have accessed this post 244 times.

बरेली : भाजपा की पदयात्रा के दौरान बिथरी चैनपुर के विधायक पप्पू भरतौल और उनके समर्थकों पर तमंचे तानने का मुकदमा दर्ज होने के बाद दूसरा पक्ष विरोध में आ गया। प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के नेता वीरपाल सिंह यादव ने भी यह कहते हुए कड़ा एतराज जताया कि विधायक झूठे मुकदमे दर्ज करा रहे हैं। एडीजी इस पर संज्ञान लेते हुए एसएसपी से जांच करके रिपोर्ट देने के लिए कहा है।

पीएसपी नेता वीरपाल सिंह ने कहा कि पुलिस विधायक के दबाव में इस तरह से झूठे मुकदमे दर्ज करके अच्छा नहीं कर रही है। शिवनगर में जब भाजपा की पदयात्रा पहुंची तो गांव में रहने वाले विपक्ष के लोग भी तमाशबीन थे। गांव में बिजली दिलवाने की बात कहने पर लोगों के बीच आपस में बहस हो रही थी। विधायक ने अपनी सुरक्षा में सिपाही बढ़वाने के मकसद से आरोप लगा दिया कि तमंचे लेकर लोग उन्हें मारने के लिए आए थे। यह खराब बात है। विधायक को ऐसा नहीं करना चाहिए था। न ही पुलिस को इस तरह विधायक के दबाव में मुकदमा दर्ज करना चाहिए था। दूसरी तरफ बुधवार को आरोपित पक्ष एडीजी से मिला और विधायक के खिलाफ तहरीर दी। आरोपित पक्ष का कहना है कि विधायक व उनके साथ आए लोगों ने घरों में घुसकर मारपीट व तोड़फोड़ की है। शिवनगर से आए लोगों ने एडीजी को बताया कि विवाद की असल वजह शिवनगर में बिजली दिलवाने का क्रेडिट लेना है। एडीजी ने एसएसपी को जांच के आदेश दिए हैं। बता दें कि मंगलवार को भाजपा नेता कमल 

संदेश यात्रा निकाल रहे थे। बिथरी विधायक राजेश मिश्रा उर्फ पप्पू भरतौल जब कैंट के शिवनगर गांव पहुंचे तो कुछ लोगों ने विरोध करना शुरू कर दिया। आरोप है कि इन लोगों ने विधायक व उनके समर्थकों पर तमंचे तान दिए। इस मामले में भऊआपुर निवासी तुलसीराम कश्यप की तरफ से कपिल, कमलेश, सर्वेश आदि पांच लोगों के खिलाफ कैंट थाने में मुकदमा दर्ज कराया गया। उधर, विधायक पप्पू भरतौल ने बताया कि जिन लोगों पर मुकदमा हुआ है, वे आपराधिक पृष्ठभूमि के हैं। वीरपाल सिंह तो हमेशा से ही आग में घी डालने का काम करते रहते हैं। उन्हें पता ही नहीं कि गांव में क्या हुआ और बयान दे दिया। कुछ लोग मिलने आए थे। बिथरी विधायक पप्पू भरतौल की शिकायत की थी। एसएसपी को जांच के आदेश कर दिए हैं। एसएसपी विधायक पर लगे आरोपों की जांच करेंगे।