Home बरेली मसाला धर्मांतरण प्रकरण : मेडिकल से पहले पीड़ित फरार, पुलिस की प्रताड़ना से...

धर्मांतरण प्रकरण : मेडिकल से पहले पीड़ित फरार, पुलिस की प्रताड़ना से भागने की बात कही, ऑडियो वायरल

Visitors have accessed this post 333 times.

बरेली, जेएनएन। धर्मांतरण का आरोप लगाने वाला युवक रहस्यमयी तरीके से फरार हो गया। पुलिस मंगलवार को मेडिकल के लिए उसे जिला अस्पताल लायी थी। वहीं से पुलिस के हाथ से निकल गया। बुधवार को पूरा दिन पुलिस उसे घर से लेकर परिचितों तक में ढूंढती रही। मेडिकल बोर्ड भी उसका इंतजार करता रहा। वहीं, शाम को कस्बे में पीडि़त और थाने के एक दारोगा के बीच बातचीत का ऑडियो वायरल हुआ, जिसमें वह पुलिस की प्रताडऩा के कारण भागना बता रहा है।

भोजीपुरा के एक गांव निवासी पीडि़त ने सिरौली थाने में सीओ के निर्देश पर तीन लोगों के खिलाफ बेहोश करके खतना करने और जबरन धर्मांतरण कराने की रिपोर्ट दर्ज कराई थी। मंगलवार को मेडिकल होना था। थाने से दारोगा जगविंदर सिंह पीडि़त को जिला अस्पताल लाए थे। यहां बोर्ड गठित न होने पर उसे बुधवार को बुलाया गया। दारोगा वापस उसे लेकर निकले थे, इसी दौरान अस्पताल में वह चकमा देकर निकल गया।

दारोगा ने फोन पर किया था संपर्क

काफी देर तक न आने पर दारोगा थाने पहुंचे। बुधवार को उसके फोन पर संपर्क किया। करीब पौने दो मिनट की इसी बातचीत का ऑडियो वायरल हो गया। इसमें दारोगा अब नौकरी की दुहाई देकर उसे वापस आने को मना रहे हैं। वहीं, पीडि़त पुलिस पर प्रताडि़त करने के आरोप लगाकर भागने की बात कह रहा है। पुलिस सर्विलांस के जरिए उसकी लोकेशन तलाश कर रही है।

पर्दा डालने के लिए इंस्पेक्टर बोले, वादी को कस्टडी में नहीं रख सकते

युवक को दारोगा के साथ भेजा था। मंगलवार को उसका परीक्षण नहीं हो सका तो वह घर चला गया। बुधवार को आने की बात कही थी। वह वादी है। हम उसको कस्टडी में नहीं रख सकते। आ जाएगा तो मेडिकल कराया जाएगा।-सोमप्रकाश, इंस्पेक्टर सिरौली