Home बरेली मसाला पॉश कॉलोनियों वालों खबरदार, रात को आ रहे बदमाश

पॉश कॉलोनियों वालों खबरदार, रात को आ रहे बदमाश

Visitors have accessed this post 95 times.

बरेली : बदमाश वारदात करते रहे और पुलिस चुप्पी साधे बैठी रही। नतीजन यह हुआ कि वे इतने बेखौफ हो गए कि शहर की पॉश कॉलोनियों तक पहुंच गए। ताबड़तोड़ वारदात को अंजाम देने लगे। महानगर कॉलोनी में दो चोरियां पहले ही हो चुकीं, इस बार निशाना रामपुर गार्डन बना। वहां घुसे पशु तस्करों को डेयरी पर गाय बंधी दिखी तो उसे खोलकर ले जाने लगे। गनीमत रही कि वक्त रहते डेयरी मालिक पहुंच गए। शोर कर दिया। भीड़ इकट्ठी हुई और चालक को धर दबोचा। जबकि उसके तीन साथी फरार हो गए।

रामपुर गार्डन में रहने वाली कालीचरण अपने भतीजे राकेश बाबू के साथ डेयरी चलाते हैं। दोनों ने मिलकर करीब चालीस पशु पाल रखे हैं। पिछले कुछ समय से उनके पशु चोरी हो रहे। शनिवार रात कालीचरण खाना खाकर देर रात तक रखवाली कर सो गए। तड़के पांच बजे पहुंची एक सेंट्रो कार से तीन युवक उतरे और डेयरी में बंधी गाय का मुंह व पैर रस्सी से बांधकर कार में डालने लगे। उसी दौरान राकेश बाबू अपने घर कालीबाड़ी से वहां पहुंचे। उनकी नजर कार पर पड़ी तो दंग रह गए। शोर किया तो उनके चाचा व अन्य लोग दौड़कर पहुंचे। खुद को घिरता देखकर गाय भर रहे तीनों तस्कर भाग निकले मगर चालक शकील निवासी सैदपुर हाकिंग को पकड़ लिया गया। जमकर पिटाई लगाने के बाद पुलिस बुला ली।

ये तस्कर फरार

पकड़े गए तस्कर शकील ने पुलिस को बताया कि गांव का ही इलियास, नाजिम व एक अज्ञात युवक साथ आया था। उसे कार चलाने के बदले एक हजार रुपये देने की बात कहकर नाजिम साथ लेकर आया। पुलिस को शंका है कि कार चोरी की हुई है।

एक महीने में तीन गाय चोरी

कालीचरण ने बताया कि एक महीने में उसकी तीन गाय चोरी हो चुकी है। जिनकी कीमत करीब एक लाख रुपये है। इस बार चौथी गाय चोरी करने की कोशिश हुई। हर बार घेराबंदी की कोशिश की मगर तस्कर हाथ नहीं आए।

चोरी के बाद गांव पहुंचते ही वध

पुलिस ने पूछताछ की तो शकील बोला कि फरार तीनों युवक गाय चोरी कर गांव पहुंचते ही वध करते और उसका मांस बेच देते। जिससे किसी को भनक तक नहीं लगती थी।

गश्त वाली पुलिस गायब

रामपुर गार्डन में व्यापारी, उद्यमी रहते हैं। तमाम अस्पताल हैं। चौकी चौराहा पुलिस चौकी के पीछे बसी पॉश कॉलोनी में सुरक्षा इंतजाम की भी पोल खुल गई। एक महीने से तस्कर वहां लगातार वारदात करते रहे और गश्त करने वाली पुलिस अंजान बनी रही।

चौकी इंचार्ज सुभाषनगर पर गिरी थी गाज

दस दिन पहले ही सुभाषनगर में पशु तस्करी की शिकायत मिली तो एसएसपी मुनिराज जी ने चौकी इंचार्ज सुभाष यादव को लाइन भेज दिया था। अब शहर की पॉश कॉलोनी में पशु चोरी का मामला सामने आया है।

कार में डॉक्टर लिखवाकर घूमते रहे बदमाश

पशु तस्करों को मालूम था कि रामपुर गार्डन में डाक्टर बड़ी संख्या में रहते हैं। लगातार वारदात करने वाले बदमाशों ने कार पर डॉक्टर लिखवा लिया, निशान भी बनवा लिया ताकि कॉलोनी में लगातार घूमती कार किसी डॉक्टर की लगे। पीछे वाले सीट तोड़ रखी थी, जिसमें पशुओं को डाला जाता। उसमें कई इंजेक्शन भी मिले। जिनसे पशुओं को बेहोश कर दिया जाता।

महानगर कॉलोनी में हो चुकी दो चोरियां

महानगर कॉलोनी में रहने वाले एआरटीओ के ससुर बांकेलाल के घर में चोरी हो गई थी। चार दिन पहले उन्हें जानकारी हुई। इसी कॉलोनी में रहने वाले सबरजिस्ट्रार विनोद सिंह के यहां भी चोरी हो गई थी।